अहंकार आपका सबसे बड़ा दुश्मन है

अहंकार आपका सबसे बड़ा दुश्मन है

जब तक अहंकार रहता हैं, तब तक ज्ञान नहीं होता और न मुक्ति होती हैं ।

जब तक अहंकार रहता हैं, तब तक ज्ञान नहीं होता और मुक्ति होती हैं इस संसार मे बार - बार आना पड़ता हैं बछड़ा 'हम्बा - हम्बा ' (मैं , मैं ) करता हैं , इसलिए उसे इतना कष्ट भोगना पड़ता हैं कसाई काटते हैं ।चमड़े से जूते बनाते हैं और जंगी ढोल मडि जाते हैं वह ढोल भी जाने कितना पीटा जाता हैं , तकलीफ की हद हो जाती हैं अंत मे आंतो से तांत बनाई जाती हैं उस तांत से जब धुनिया का धुनहा बनता हैं और उसके हाथ मे धुनकते समय जब तांत 'तू- तू ' करती हैं , तब कही निस्तार होता हैं तब वह हम्बा-हम्बा ( हम-हम) नहीं बोलती , 'तू - तू ' करती हैं , अर्थार्त  हें ईश्वर , तुम ही कर्ता हों , मैं अकर्ता तुम यंत्री हों, मै यन्त्र तुम्ही सब कुछ हों

धर्म स्वंय का निरादर करने वालो को नष्ट कर देता हैं, मार देता हैं और अपनी रक्षा करने वाले की रक्षा करते हैं इसलिए धर्म को कभी नहीं छोड़ना चाहिए धर्म को कभी मरा समझो और सर्वदा उसका पालन करते हुए उसकी रक्षा करो

To know what your luck holds for you stay connected to Kismat Conection. You can write us here

Please Note : Every calculation can be unique in nature. For best and most accurate results get help from one of our Experts Numerologer. Post your Problem on our ASK US page and our Numerologer will get back to you